< >

Arranged and Love Marriage Specialist Astrologer

Pandit H.R.Shastri Ji is well known name in the field of love marriage, if your Arranged and Love Marriage is in problem and you not getting way to solve the problem for that Arranged and Love Marriage is there to help you out in solving your problem. In India Marriages is said to be combination of two person base upon their love, fondness, loyalty as well as magnetism. At the same time in other part of world where most marriages are measured to be ‘BASED IN LOVE’ the expression have significance in another place to indicate a concept of Arranged and Love Marriage which differs from the norms of arranged marriage and force marriage.

समस्या और समाधान

यज्ञ

मन्त्रों में अनेक शक्ति के स्रोत दबे हैं। जिस प्रकार अमुक स्वर-विन्यास ये युक्त शब्दों की रचना करने से अनेक राग-रागनियाँ बजती हैं और उनका प्रभाव सुनने वालों पर विभिन्न प्रकार का होता है, उसी प्रकार मंत्रोच्चारण से भी एक विशिष्ट प्रकार की ध्वनि तरंगें निकलती हैं और उनका भारी प्रभाव विश्वव्यापी प्रकृति पर, सूक्ष्म जगत् पर ...

वैदिक वास्तुशास्त्र

एक अच्छे , उन्नतिशील एवं सुखी घर की परिकल्पना मनुष्य जीवन की अच्छी किस्मत के अलावा निर्माण के वास्तु पर अत्यधिक निर्भर करती है I जो भी प्राणी किसी भवन विशेष में निवास या व्यवसाय करके उन्नति को प्राप्त हुए हैं I उन भवनों को वास्तु शास्त्र से देखने पर पता है कि वह काफी कुछ हमारे वैदिक वास्तु ...

रक्षा कवच

कवच अर्थात शरीर की रक्षा करने का यह यन्त्र मनुष्य के जीवन पर घटने वाली अप्रत्याशित या अप्रिय घटना जैसे दुर्घटना, अचानक आने वाला बीमारी, अनायास झगड़ा, मानसिक तनाव, व् असाध्य रोग शत्रु द्वारा पीछा करना, शत्रु द्वारा मारण प्रयोग करना आदि परेशानियों से बचाना है I जिस प्रकार राजा कर्ण के पास सूर्य देव द्वारा दिया हुआ कवच तन के पास रहा तबतक राजा अर्जुन कर्ण को मार नहीं सका...

राशि रत्न

विभिन्न परेशानियां जो हमारे जीवन को प्रभित करती है जैसे हमारा कमजोर भाग्य, शादी ना होना, नौकरी न मिलना, धन की कमी, कर्ज, संतान का ना होना इत्यादि कमी से बचने के लिए सबसे आसान तरीका है अपना राशि रत्न का धारण करें क्योंकि हमारे जीवन में ग्रहों का बड़ा योगदान होता है कभी भी ऐसे रत्न धारण ना करें जो आपके लिए फलदाई न हो...